संकल ग्रह की शान्ति के लिए नवग्रह पूजन तथा जप

 

गुरुदेवो की मानें तो हर कोई किसी न किसी ग्रह दोष से ग्रस्त रहता है. कई बार उसे पता नहीं चलता कि किस वजह से उसकी जिंदगी में तूफान रुकने का नाम नहीं ले रही. किस वजह से जीना मुश्किल हो रहा है. तो क्या हैं नवग्रह दोष के लक्षण और उससे निजात पाने के उपाय.
अगर बिना बात घर में कलह क्लेश हो, हर काम बनते-बनते बिगड़ जाते हैं, शत्रु अकारण परेशान कर रहे हों , सेहत नहीं दे रही साथ, मान सम्मान का हो रहा हो नाश, बच्चे की बुद्धि का नहीं हो रहा विकास तो आप नवग्रह दोषों से ग्रस्त हैं. फिर तो आप जान लीजिए वो 9 उपाय जो खत्म करेगा 9 ग्रहों के दोष. अर्चारिया महेशजी ने हर ग्रह के बारे में मंत्र लिखे है और पूजा के लिए आप इनको डायरेक्ट कॉल भी कर सकते है |

    

1.Surya Mantra​

Total Count ->7०००

                Mantra -> ॐ घृणि सूर्याय नमः |

    

2.Chandra Mantra

Total Count ->11०००

                Mantra -> ॐ सौं सोमाय नमः |

    

3.Mangal Mantra

Total Count ->1०००

                Mantra -> ॐ अं अंगारकाय नम: |

    

 

4. Bhudh Mantra

Total Count ->1०००

                Mantra -> ॐ अं अंगारकाय नम: |

    

 

5. Guru Mantra

Total Count ->19०००

                Mantra -> ॐ बृं बृहस्पतये नमः ।

    

 

6. shukra Mantra

Total Count ->16०००

                Mantra -> ॐ शु सुक्राये नमः ।

 

    

 

7. Sani Mantra

Total Count ->16०००

                Mantra -> ॐ श सनीचराये नमः ।

 

 

8. Rahu Mantra

     Total Count ->16०००

                Mantra -> ॐ र राहवे नमः |

 

 

 

8. Ketu Mantra

     Total Count ->16०००

                Mantra ->ॐ केँ केतवे नमः । 

Close Menu
Translate »