मनुष्य जीवन दोष हेतु पूजाओ के निवारण

रुद्राभिषेक व पार्थिव पूजन

 

जल धारा शिवप्रिया अर्थात जल की धारा भगवान शिव को सबसे प्रिय है | 

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शास्त्रों में निम्न प्रकार की पुजाएँ वर्णित हैं|

 

महामृतुन्जय जप

 

मृत्युंजय का अर्थ होता है मृत्यु पर विजय प्राप्त करना अर्थात व्यक्ति को इस मृत्युलोक मे बार-बार जन्म न लेना पड़े मोक्ष को प्राप्त हो जाए |

पुत्र प्राप्ति के लिए संतान गोपाल जप जिसकी संख्याएै 12500
धन प्राप्ति
Read More
श्री विष्णु सहस्त्रनाम
Read More
रामरक्षा
Read More
श्रीमद्भगवद गीता पाठ
Read More
Close Menu
Translate »